कैंट क्षेत्र भी नहीं सुरक्षित, दिनदहाड़े लूट

लखनऊ, छावनी क्षेत्र के तोपखाना स्थित आरए बाजार में रहने वाले सूबेदार के घर में घुसे दो सशस्त्र बदमाशों ने उनकी पत्नी को बंधक बनाकर लूटपाट की। विरोध करने पर बदमाशों ने उन्हें पीटा और फिर मुंह-हाथ टेप व रस्सी से बांध दिये। वारदात को अंजाम देने के लिए बदमाश हेलमेट पहनकर केबिलकर्मी बनकर घर में दाखिल हुए थे। पन्द्रह मिनट के अंदर दिनदहाड़े लूट की वारदात को अंजाम देकर बदमाश भाग निकले। घटना की सूचना मिलते ही सूबेदार, सीओ कैंट व एसओ कैंट मौके पर पहुंचे। पुलिस ने छानबीन करने के लिए फिंगर प्रिंट एक्सपर्ट को बुलाया और जांच की। सूबेदार जीतेन्द्र प्रसाद शुक्ल तोपखाना के आरए बाजार स्थित क्वार्टर नम्बर-13/6 में पत्नी तारा शुक्ल उम्र करीब 52 वर्ष, के साथ रहते हैं। करीब एक माह पहले ही जीतेन्द्र का लखनऊ ट्रांसफर हुआ था। उनका बेटा अभिषेक शुक्ल पुणो में इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर रहा है। रोजाना की तरह बुधवार सुबह करीब आठ बजे सूबेदार जीतेन्द्र प्रसाद आर्मी मेडिकल कोर (एएमसी) के लिए निकले। करीब नौ बजे हेलमेट पहने एक युवक हाथ में रजिस्टर लिये घर में आया। तारा के पूछने पर युवक ने कहा कि मैडम, टीवी कैसा आ रहा है, हम केबिलवाले हैं। यह सुनकर तारा ने युवक को घर में बुला लिया। युवक ने अंदर आकर टीवी चेक किया और फिर करीब दस मिनट बाद बाहर निकला। इस बार वह अपने दूसरे हेलमेट पहने साथी को लेकर आया। अंदर घुसते ही हेलमेट पहने बदमाशों ने तारा पर पिस्तौल तानते हुए जेवर देने की बात कही। यह देख तारा उनसे भिड़ गयी। इस पर बदमाशों ने उन्हें मारा- पीटा व गोली मारने की धमकी देते हुए कान का बुंदा, चेन व मोबाइल लूट लिया। बदमाश पिस्तौल दिखाकर नकदी की मांग की। तारा ने आलमारी से पचास हजार रुपये निकालकर दिये। बदमाशों ने रस्सी से तारा के हाथ बांधे व मुंह पर टेप लगाया। वारदात को अंजाम देने के बाद दोनों बदमाश छज्जा कूदकर भाग निकले। किसी तरह तारा ने अपने को बंधन मुक्त किया और पति जीतेन्द्र को लूट के बारे में बताया। उन्होंने आनन-फानन में पुलिस को सूचना दी और घर के लिए निकल गये।

घटना की सूचना मिलते ही सीओ कैंट बबिता सिंह व एसओ कैंट जहीर खान मौके पर पहुंचे। बबिता सिंह ने बताया कि शुरुआती जांच से यह साफ है कि बदमाश आसपास के ही रहने वाले हैं। बदमाश घटना के दौरान तारा का मोबाइल भी लूटकर भाग निकले। पुलिस अफसरों का मानना है कि लूटपाट करने के लिए बदमाशों ने कई दिन रैकी की होगी। इसे ध्यान में रखते हुए पुलिस मोबाइल टॉवर खंगाल रही है। पुलिस को उम्मीद है कि कोई न कोई मोबाइल नम्बर ऐसा जरूर पड़ताल के दौरान मिलेगा, जिसकी लोकेशन घटना से कुछ दिन पहले व बुधवार सुबह भी वहीं होगी। इसके साथ ही पुलिस ने लूटा गया तारा का मोबाइल भी सर्विलांस पर ले लिया है। मौके पर पहुंची फिंगर प्रिंट की टीम के एक्सपर्ट ने टीवी पर एक बदमाश की उंगली के फिंगर प्रिंट हासिल किये। बताया जा रहा है कि बदमाशों ने वारदात के दौरान घर की किसी भी सामान को हाथ नहीं लगाया था। आलमारी बदमाशों ने तारा से खुलवायी और रुपये निकलवा कर अपने पास रखे। एसओ जहीर खान का कहना है कि बदमाश आसपास के ही रहने वाले हैं। उन लोगों को इस बात की जानकारी थी कि सूबेदार कब जाते हैं, दिन में कब आते हैं और किस समय वारदात करना आसान है।

प्रकार :